विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को मुख्य धारा..

The Persons with Disabilities Act, 1995 provides for access to free education in an appropriate environment for children with disabilities till they attain the age of 18 years. The educational needs of disabled children are to be covered through a range of interventions. Madhya Pradesh is the first State that has taken an initiative to use the ICT for the tracking of the assistance being provided to the CWSN to ensure personalized follow-up. T...


+

नि:शक्‍तता : पहचान एवं निवारण

सामान्यत: नि:शक्‍तता एक ऐसी अवस्था है जिससे व्यक्ति शरीर के कुछ अंग न होने के कारण अथवा सभी अंगों के होते हुए भी उन अंगों का कार्य सही रूप से नहीं कर पाता - जैसे उँगलियाँ न होना, पोलियो से पैर ग्रस्त होना, आँख होते हुए भी अंधत्व के कारण दिखाई नहीं देना, कान में दोष होने के कारण सुनाई नहीं देना, बुद्धि कम होने के कारण पढ़ाई नहीं कर पाना अथवा बुद्धि होते हुए भी भावनाओं पर नियंत्रण न कर पाना आदि | विश्व स्वास्थ्य संगठन ने नि:शक्‍तता की परिभाषा को तीन चरणों में विभाजित किया है -

व्यक्ति के स्वास्थ्य से संबन्धित ऐसी अवस्था जिसमें शरीर के किसी अंग की रचना अथवा कार्य में दोष/अकार्यक्षमता/दुर्बलता होना |

+

  सत्यापित CWSN की संख्या - विक़लांगता के प्रकार के अनुसार  

सुविधाये एवं सेवाये